Header Ads Widget

What is Difference Between Sensex And Nifty In Hindi- ( सेंसेक्स और निफ्टी के क्या फायदे है? )

नमस्कार दोस्तों! आज हम Sensex, Nifty ( सेंसेक्स और निफ्टी ) से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी शेयर कर रहे हैं। बहुत से लोगो के ये सवाल होते हैं की What is Difference Between Sensex And Nifty In Hindi ( सेंसेक्स निफ्टी में क्या अंतर है? ), सेंसेक्स और निफ्टी 50 के क्या फायदे है

Difference Between Sensex And Nifty In Hindi- सेंसेक्स और निफ्टी के क्या फायदे है?-इंडेक्स क्या होता है? What is Index in Hindi-निफ्टी 50 और सेंसेक्स के बीच क्या अंतर है?-इंडेक्स किसे कहते है?-Types Of Index in Share Market-सेंसेक्स और निफ्टी में क्या अंतर है?-What is the similarities between Sensex and Nifty in Hindi-Benefits of Sensex and nifty in Hindi-BSE सेंसेक्स में लिस्टेड Top 30 Companies कौन सी है?-List of Nifty 50 Companies ( निफ्टी 50 कंपनियों की सूची )


इस लेख में हम Sensex और Nifty 50 के फायदे और Difference के बारे में विस्तार से जानेगे-




Difference Between Sensex And Nifty In Hindi ( निफ्टी 50 और सेंसेक्स के बीच क्या अंतर है? )


भारत में हजारो कंपनियां Index ( सूचीबद्ध ) है और हर एक स्टॉक को ट्रैक करना आसान नही है इसलिए सेंसेक्स और निफ्टी यहाँ महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो पूरे बाज़ार के प्रतिनिधि के रूप में कार्य करता है इसलिए Sensex और Nifty दो महत्वपूर्ण सूचांक है, जिसका उपयोग बाज़ार के ऊतार-चढाव को मापने के लिए किया जाता है!


अगर बात की जाये सेंसेक्स की तो Sensex बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) का सूचाकांक ( Index ) है, जो Sensitive Index से मिलकर बना है जिसका अर्थ होता है संवेदी सूचाकांक ! वही अगर निफ्टी की बात की जाये तो Nifty नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE ) का सूचाकांक है जो National और Fifty से मिलकर बना है, इसलिए इसे Nifty 50 भी कहते है!



Sensex की शुरुआत 1 जनवरी 1986 में हुई थी सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का बेंचमार्क इंडेक्स है यह India का सबसे पुराना Stock Market Index है! बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) में सूचीबद्ध 13 विभिन्न क्षेत्रो की 30 कंपनियों के शेयर शामिल होते है , जो इंडेक्स के फ्री–फ्लोट मार्केट कैपिटलाइज़ेशन के लगभग 45 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करते हैं।


वही दूसरी और Nifty की शुरुआत November 1996 में हुई थी, NSE ( National Stock Exchange ) का सूचकांक (Index) निफ्टी है! Nifty National Stock Exchange में Listed Top 50 कंपनियों के Shares का एक Benchmark है इसलिए इसे Nifty 50 भी कहा जाता है इस इंडेक्स में 12 सेक्टर्स की 50 सबसे बड़ी भारतीय कंपनियां शामिल होती है जो इंडेक्स के फ्री–फ्लोट मार्केट कैपिटलाइज़ेशन के लगभग 62 प्रतिशत का प्रतिनिधित्व करती हैं।


सेंसेक्स का गिरना और बढ़ना यह दोनों इन 30 प्रमुख कंपनियों पर निर्भर करता है अगर सेंसेक्स में लिस्टेड कंपनियों के बाजार में शेयरों के मूल्य बढ़ रहे हैं तो सेंसेक्स भी बढ़ जाता है और ऊपर चला जाता है और वहीं अगर सेंसेक्स में लिस्टेड कंपनियों की बाजार में शेयरों के मूल्य गिर रहे होते है तो सेंसेक्स भी गिरने लगता है, ठीक इसी प्रकार निफ्टी का गिरना और बढ़ना यह दोनों इन 50 प्रमुख कंपनियों पर निर्भर करता है!


Nifty और Sensex की मदद से हम Stock Market के बारे में ना केवल जान सकते है बल्कि इसकी मदद से हम Stock Market में होने बाली बडी हलचल के बारे में भी आसानी से समझ सकते है। Nifty Market की Condition के बारे में बताता है की आज Market ऊपर जायेगा या नीचे !



आशा करता हूँ दोस्तों अब आप जान ही गये होंगे Difference Between Sensex And Nifty In Hindi ( निफ्टी और सेंसेक्स के बीच क्या अंतर है? ) अगर आप Sensex और Nifty 50 के बारे में और अधिक जानना चाहते है तो आप Sensex Nifty Kya Hai in Hindi- सेंसेक्स और निफ्टी 50 की गणना कैसे होती है? ये पोस्ट पढ़ सकते है!


तो चलिए अब जानते है सेंसेक्स और निफ्टी के क्या फायदे होते है? लेकिन उससे पहले हम जानेगे की इंडेक्स क्या होता है? ( What is Index? )




Index Kya Hai- ( इंडेक्स किसे कहते है? )


अगर आप शेयर बाजार में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने कई बार लोगों के मुंह से Index या सूचकांक के बारे में तो जरूर सुना होगा। सूचकांक किसे कहते हैं? What is index in Hindi और इनका क्या महत्व होता है?


इन सारे सवालों के जबाब आपको इस पोस्ट में मिल जायेगे, बस आपको इस पोस्ट को धैर्य के साथ अंत तक पढना ताकि आपको इसकी पूरी और सही जानकारी मिल पाए, वो कहते है न की आधी अधूरी जानकारी जहर के समान होती है तो इसलिए इस लेख को पूरा अंत तक जरूर पढ़े और अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगे तो शेयर करना ना भूले!




Stock Market में Trading करें या Invest क्या है बेहतर?


इंडेक्स क्या होता है? ( What is Index in Hindi )


Index या सूचकांक संख्या या डाटा के समूह में होने वाले परिवर्तन को गिनना और उन्हें संग्रह करने की एक संख्यिकी उपाय है। यह Data किसी भी स्रोत से प्राप्त किया जा सकता हैं। आप डाटा ( DATA ) को जानकारी भी कह सकते हैं। 

अभी हम शेयर बाजार से संबंधित सूचकांक या Index के बारे में बात कर रहे हैं तो इसके चलते बड़ी-बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन के आंकड़े, मूल्यों में होने वाले उतार-चढ़ाव, उत्पादन और रोजगार के आंकड़े भी किसी ना किसी रूप से सूचकांक को प्रदर्शित करते है। 


सूचकांक ( Index ) ज्यादातर शेयर बाजार में इस्तेमाल होने वाला शब्द है जब हम शेयर बाजार के Index या सूचकांक की बात करते हैं तो यहां इंडेक्स एक शेयरों के समूह की कीमतों के बदलाव को ट्रैक करने का तरीका है, शेयरों की कीमतों के आधार पर बाजार या किसी उद्योग के शेयर की कीमतों के प्रदर्शन को नापने के मानक को सूचकांक या Index कहते हैं।



सूचकांक कितने प्रकार के होते है? ( Types Of Index in Share Market )


भारतीय स्टॉक मार्केट में दो बड़े इंडेक्स हैं- पहला सेंसेक्स ( जो BSE का सूचाकांक है ), दूसरा निफ्टी ( जो NSE का सूचाकांक है )

  1. Sensex
  2. Nifty


शेयर बाज़ार में होने वाली तेजी और मंदी हमारी अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित करती हैं। इसके चलते शेयर बाजार पर लोगों की पैनी नजर होती है Sensex और Nifty जैसे Share Market के सूचकांक आर्थिक रूझानो का मूल्यांकन और बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव की भविष्यवाणी करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। 

सूचकांक की सहायता से हम शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव पर निगरानी रख पाते हैं। सूचकांक के विश्लेषण के आधार पर ही हम यह पता लगा पाते हैं कि शेयर मार्केट में मंदी चल रही है या तेजी


Sensex और Nifty पूरे बाजार का प्रतिनिधित्व करती है जैसा की हमने ऊपर बताया है कि सेंसेक्स में 30 सबसे बड़ी कंपनियों के शेयर लिस्टेड होते है और निफ्टी में 50 प्रमुख कंपनियों के शेयर लिस्टेड होते है!

सेंसेक्स और निफ्टी में लिस्टेड कंपनियों के शेयरों में आये गिरावट और बढ़ोत्तरी से हमे शेयर बाज़ार में आये उतार-चढाव के बारे में पता लगता है!




सूचकांक का क्या महत्व है? – Importance of Index


देखा जाए तो सूचकांक एक बेंच मार्क के रूप में कार्य करता हैं Index उस क्षेत्र से संबंधित उद्योग या कार्यों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराता है। शेयर मार्केट में Index Share Bazaar में होने वाली हलचल या कंपनी में होने वाली उतार-चढ़ाव के बारे में जानकारी देने की क्षमता रखता है। जिससे किसी भी पोर्टफोलियो के रिटर्न की तुलना की जा सकती है। 

इसके विशेषण से आप यह पता लगा सकते हैं कि किस प्रकार के Portfolio पर आपको कितना रिटर्न मिलने की संभावना है। सूचकांक का इस्तेमाल आप विभिन्न गणना के लिए अपने स्तर पर कर सकते हैं। या आप किसी खास क्षेत्र पर अध्ययन के लिए इनका विश्लेषण कर सकते हैं। 

लेकिन शेयर बाजार के क्षेत्र में आप इंडेक्स का विश्लेषण करके आप शेयर बाजार में होने वाले हलचल यानी कि उतार एवं चढ़ाव के बारे में अध्ययन कर सकते हैं। आप किसी खास तिथि के अंतराल या पूरे वर्ष में शेयर बाजार की स्थिति कैसी रही? इस बारे में भी जानकारी आसानी से ले सकते हैं। 


अगर आप Share Market में दिलचस्पी रखते हैं, या फिर आप शेयर पर निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो Share Market के सूचकांक ( Index ) का विश्लेषण करके आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको इसमें कितना नफा-नुकसान होने वाला है। अगर आप विश्लेषण नहीं करते हैं तो आप यह अंदाजा नहीं लगा पाओगे कि आपने शेयर मार्केट में कितना पैसा कमाया है।



दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको हमारे इस लेख से जरूर कुछ नया सीखने को मिला होगा। हमने आज इस लेख के माध्यम से आप लोगों को यह जानकारी देने की कोशिश की है कि सूचकांक या Index क्या होता है? What is index in Hindi अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी है तो सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को जरूर शेयर करें ताकि शेयर बाज़ार में रूचि रखने वाले लोगो को सही और सटीक जानकारी मिल सके!




सेंसेक्स और निफ्टी में क्या अंतर है? ( What is the difference between Sensex and Nifty in Hindi )


  1. सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ( BSE ) का इंडेक्स या सूचाकांक है वही निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE ) का इंडेक्स या सूचाकांक है!
  2. Sensex की शुरुआत 1986 में हुई थी, वही दूसरी और Nifty की शुरुआत 1995 में हुई थी !
  3. सेंसेक्स में 30 कंपनियां शामिल होती है, जबकि निफ्टी में 50 कंपनियां शामिल होती हैं।
  4. Sensex का Base Value 100 है, जबकि Nifty का Base Value 1000 हैं।
  5. निफ्टी ‘नेशनल फिफ्टी‘ से ली गई है, सेंसेक्स ‘सेंसिटिव इंडेक्स‘ से ली गई है।
  6. Sensex का Base Year 1978-79 है, जबकि Nifty का Base Year 1996 हैं।




सेंसेक्स और निफ्टी में क्या समानता है? ( What is the similarities between Sensex and Nifty in Hindi )



  1. Sensex और Nifty दोनों ही भारतीय शेयर बाज़ार के उतार-चढाव को दर्शाते है!
  2. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों ही Indices है!
  3. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों मुंबई में स्थित है!
  4. Sensex और Nifty दोनों में ही विभिन्न क्षेत्रो की प्रमुख कंपनियां शामिल होती है!
  5. दोनों एक Stock Exchange से सम्बंधित है!









सेंसेक्स के क्या फायदे है? ( Benefits of Sensex in Hindi )



  1. अगर Sensex बढ़ता है और जब कंपनियां सेंसेक्स को ऊपर जाते देखती हैं तो निवेशक भी ऐसी कंपनियों में पैसा लगाने की चाह रखते है और जब निवेशकों से बहुत ज्यादा पैसा इकट्ठा हो जाता है तो Company को फायदा होता है, और जब Company को फायदा होता है तो Shares खरीदने वालों की संख्या भी बढ़ जाती है जिससे Company के Shares के भाव भी बढ़ जाते है जिससे Company का विकास होता है। और जब भी कोई कंपनी expand होती है तो उसके लिए उसको नए लोगों की आवश्यकता होती है तो ऐसे में वे अधिक लोगों को नौकरी देंगे और इसका सीधा मतलब बेरोजगारी की कमी होगी!
  2. जब शेयर मार्किट अपने उच्त्तम स्तर पर होता है तो उसमे शेयर खरीदने के लिए विदेशी निवेशक भी इच्छुक होते है जिससे हमारी भारतीय Currency पर अच्छा असर होता है, और भारतीय Currency विदेशी Currency की तुलना में मजबूत हो सकती है और जब रुपया मजबूत होता है तो इससे चीज़ें सस्ती होने लगती है।
  3. सेंसेक्स का सबसे बड़ा फायदा यही होता है की इसके जरिये निवेशक बाजार में होने वाले भविष्य के परिवर्तनो को जान सके और समझ सके और उनके हिसाब से अपना पैसा ठीक तरीके से निवेश कर सके। 
  4. Sensex के बढ़ने से Share Holders को भी फायदा होता है इससे देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार देखने को मिल जाता है इससे कि आम लोगो को फायदा पहुँचता है।




निफ्टी के क्या फायदे है? ( Benefits of Nifty in Hindi )



  1. NIFTY के माध्यम से हमें देश की अर्थव्यवस्था की जानकारी आसानी से मिल जाती है. हमें पता लग जाता है अगर बाजार में तेज़ी बानी हुयी है और निफ्ट ऊपर की तरफ जा रहा है तो इसका मतलब है की देश की अर्थव्यवस्था भी ऊपर की और जा रही है!
  2. निफ़्टी के माध्यम से निवेशक को बाजार की सटिक जानकारी मिल जाती है | जिसकी मदद से वह बाज़ार में निवेश में Entry या Exit ले सकता है अगर उसका निवेश Large Cap में है तो
  3. Nifty के माध्यम से बाजार में होने वाली तेजी और मंदी तथा Company को होने वाले लाभ और नुकसान की जानकारी मिल जाती है |
  4. अगर निफ़्टी फिफ्टी में Listed Companies के Shares के भाव बढ़ते है तो उन Companies में Business के Chance भी बढ़ जाते है तो इसका मतलब है कंपनिया अच्छी ग्रोथ कर रही है और भविष्य में संभवत रोजगार बढ़ने की उम्मीदे है |




BSE सेंसेक्स में लिस्टेड Top 30 Companies कौन सी है?



  1. Adani Ports and Special Economic Zone Ltd.
  2. Asian Paints
  3. Axis Bank Ltd.
  4. Bajaj Auto Ltd.
  5. Bharti Airtel Ltd.
  6. Cipla
  7. Coal India Ltd.
  8. Dr. Reddys Laboratories Ltd.
  9. HDFC Bank Ltd
  10. Hero MotoCorp Ltd.
  11. Hindustan Unilever Ltd.
  12. Housing Development Finance Corporation Ltd.
  13. ICICI Bank Ltd.
  14. ITC
  15. Infosys Ltd.
  16. Kotak Mahindra Bank Ltd.
  17. Larsen & Toubro Ltd.
  18. लुपिन
  19. Mahindra & Mahindra Ltd.
  20. Maruti Suzuki India Ltd.
  21. NTPC Ltd.
  22. Oil & Natural Gas Corporation Ltd.
  23. Power Grid Corporation Of India Ltd.
  24. Reliance Industries Ltd.
  25. State Bank Of India
  26. Sun Pharmaceutical Industries Ltd.
  27. Tata Consultancy Services Ltd.
  28. Tata Motors
  29. Tata Motors – DVR Ordinary
  30. Tata Steel Ltd.
  31. Wipro Ltd.
ऐसी कंपनियों को “ब्लू चिप” कम्पनियाँ कहा जाता है। बीएसई यानी की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स में अभी कुल 31 कंपनियां शामिल है!




List of Nifty 50 Companies ( निफ्टी 50 कंपनियों की सूची )


  1. Bajaj Auto
  2. Hero MotoCorp
  3. Eicher Motors
  4. Mahindra & Mahindra
  5. Maruti Suzuki India
  6. Tata Motors
  7. Axis Bank
  8. HDFC Bank
  9. ICICI Bank
  10. IndusInd Bank
  11. Kotak Mahindra Bank
  12. State Bank of India
  13. Yes Bank
  14. Bajaj Finance
  15. Bajaj Finserv
  16. HDFC
  17. Indiabulls Housing Finance
  18. Grasim Industries
  19. UltraTech Cement
  20. ITC
  21. HCL Technologies
  22. Infosys
  23. Tata Consultancy Services
  24. Tech Mahindra
  25. Wipro
  26. Hindustan Unilever
  27. Britannia Industries
  28. Titan Company
  29. Asian Paints
  30. Larsen & Toubro
  31. Coal India
  32. Vedanta
  33. JSW Steel
  34. Hindalco Industries
  35. Tata Steel
  36. ONGC
  37. NTPC
  38. Power Grid Corporation of India
  39. BPCL
  40. Indian Oil Corporation
  41. Reliance Industries
  42. GAIL (India)
  43. UPL
  44. Cipla
  45. Dr. Reddy’s Laboratories
  46. Sun Pharmaceutical Industries
  47. Adani Ports
  48. Zee Entertainment Enterprises
  49. Bharti Infratel
  50. Bharti Airtel





आशा करता हूँ दोस्तों अब आप Difference Between Sensex And Nifty In Hindi- ( सेंसेक्स और निफ्टी के क्या फायदे है? ) तथा इंडेक्स क्या होता है? ( What is Index in Hindi ) जान ही गये होंगे, हमे उम्मीद है आपको ये लेख पसंद आया होगा तो हमे नीचे कमेंट कर बता सकते है!

यदि आप लोगों को Sensex, Nifty 50 से जुडी किसी भी तरह का कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है जिनके जवाब हम आपको ज़रूर उत्तर देंगे! तथा इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि WhatsApp Facebook और Twitter इत्यादि पर share कीजिये ताकि शेयर बाज़ार में रूचि रखने वाले व्यक्ति को सही और सटीक जानकारी मिल सकते ताकि उसे नुकसान ना हो!

महत्वपूर्ण नोट: शेयर बाजार निवेश बाजार जोखिमों के अधीन एक हाई रिस्क मार्केट है, शेयर मार्केट के बारे में संपूर्ण जानकारी और समझ होने के बाद ही इसमें निवेश करे।

एक टिप्पणी भेजें

2टिप्पणियाँ

  1. सर आपके article से बहुत कुछ सीखने को मिला है थैंक्स
    please visite :- https://queryland.in/

    जवाब देंहटाएं

Please do not enter any spam link in the comment box